30.1 C
Varanasi

यूपी और बिहार में पहलवानों का सम्मान नहीं – पूर्व मंत्री दद्दन पहलवान

Published:

Chandauli news :  कमालपुर कस्बा स्थित इमाम बाड़ा के पास स्थित विराट दंगल का आयोजन किया गया. अखाड़े का सबसे बड़ा 70 हजार का दांव चकिया के शमशेर और सुनील जौनपुर के बीच बराबरी पर छूटा. बतौर मुख्य अतिथि बिहार सरकार के पूर्व मंत्री व डुमरांव विधायक दद्दन पहलवान शामिल हुए. इस दौरान उपस्थित लोगों को अपने सम्बोधन में कहा की आज उत्तर प्रदेश एव बिहार में पहलवानों का कोई सम्मान नही मिलने से पहलवानों का मनोबल टूट रहा. वहीं अन्य प्रान्त महाराष्ट्र और हरियाणा में काफी सम्मान मिलता है.

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कोई पहलवान महाराष्ट्र केशरी होता है तो उस पहलवान को सरकार 2 करोड़ रुपये देती है. तीन बार केशरी होने पर एएसपी की नौकरी व 20 करोड़ की सहायता देती है. इसी प्रकार हरियाणा व पंजाब दिल्ली में भी पहलवानों को सरकार द्वारा भरपूर सहयोग मिल रहा.जबकि उत्तर प्रदेश व बिहार में पहलवान उपेक्षित है. कुश्ती को आगे बढाने के लिए बिहार व उत्तर प्रदेश की सरकार भी पहलवानों को सम्मान करें. जिससे पहलवान अपनी कला का बेहतर प्रदर्शन कर सके. इसके अलावा दंगल स्थल पर स्व पहलवान रामसुधार यादव उर्फ चैंपियन यादव की आदम कद प्रतिमा लगवाने का आश्वासन दिया.

पूर्व सांसद रामकिशुन यादव ने कहा की प्रदेश में पहलवानी की उपेक्षा  से आज पहलवानों की कला कुश्ती भी उपेक्षित हो गयी है. उन्होंने कहा पहलवानों को भरपूर खुराक नही मिलने से उनकी रुचि कम हो रही.  उन्होंने कहा एक जमाना था वाराणसी के पहलवानो से हर क्षेत्र के पहलवान दूर भागते थे. आज उपेक्षा से पहलवान कुश्ती की ओर से अपना रुझान कम कर दिए है. लेकिन महिला पहलवानों का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन उत्साहित करने वाला है.अब कुश्ती में महिलायें आगे आ रही हैं , देश के लिए मेडल जीत रही हैं जो काफी सुखद है.

इस अवसर दयाराम यादव, पियुष यादव  मनोज यादव, सुदामा जायसवाल प्रधान ‘ सुनील अग्रहरी ‘ तिलोकी जायसवाल ‘ शिवाजी वर्मा ‘ भरत रस्तोगी , अमित यादव लाला , जममेन्द्र यादव, अतहर जमाल लारी उपस्थित रहे. इसके अलावा धीना थाना प्रभारी रमेश यादव ‘ रामनयन हरिनाथ यादव एस आई उपस्थित रहें

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page