12.4 C
Varanasi

Chandauli news : पुलिसिया दुर्व्यवहार के खिलाफ भाकपा माले ने निकाला मार्च, लंबे समय से जमे पुलिसकर्मियों को हटाने की मांग..

Published:

Chandauli news : भाकपा माले नेता के साथ दुर्व्यवहार करने वाले पुलिकर्मियों को बर्खास्त करने तथा स्थानांतरण के बाद भी लम्बे समय से जमे पुलिसकर्मियों को हटाने की मांग को लेकर भाकपा(माले), किसान महासभा, खेग्रामस, इंकलाबी नौजवान सभा तथा एपवा ने संयुक्त मार्च निकाला. यह मार्च सेमरा बगीचे से विकास खण्ड मुख्यालय तक निकाला गया. इस दौरान एसडीएम चकिया कुंदन राज कपूर तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी रघुराज को संयुक्त रूप से पत्रक देकर पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की गई. पत्रक देने के बाद विकास खण्ड मुख्यालय परिसर में सभा का आयोजन किया गया.

इस दौरान किसान महासभा के जिलाध्यक्ष श्रवण कुशवाहा ने कहा कि भाजपा के डबल इंजन की सरकार में सभी संस्थाओं की तरह थाना भी गरीबों के उत्पीड़न तथा गरीबों के लिए संघर्ष करने वाले नेताओं के साथ बदसलूकी का केंद्र बन गया है. उन्होंने पुलिस पर एक तरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए कहा कि शहाबगंज पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए.

आरोप लगाया कि थाना क्षेत्र के सारिंगपुर गाँव में पट्टीदारों के आपसी जमीन के विवाद में गाँव के पूर्व प्रधान गोपाल खरवार के इशारे पर पुलिस भाकपा माले ब्लॉक कमेटी के सदस्य रामबचन बनवासी को प्रताड़ित कर रही है. उन्होंने कहा कि अगर पुलिस प्रताड़ित करना बंद नहीं कि तो लड़ाई को आगे बढ़ाया जाएगा. 

भाकपा माले के जिला सचिव अनिल पासवान ने कहा कि थाने की पुलिस मनमाना तरीके से काम कर रही है. उन्होंने कहा कि भाकपा माले की महिला संगठन एपवा की सम्मेलन कि तैयारी में प्रचार-प्रसार व सहयोग के लिए सारिंगपुर गाँव पहुंचे रामबचन वनवासी को पुलिस विपक्षी के इशारे पर थाने ले आई. जब भाकपा माले नेता चन्द्रिका यादव थाने में पूछताछ के लिए गए, तो थाने के दीवान द्वारा अपमानित किया गया. 

उन्होंने दोषी दीवान विनोद सरोज के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की. साथ ही लम्बे समय से थाने में जमे पुलिकर्मियों को हटाने तथा स्थानांतरण होने के बावजूद थाने में जमे रहने वाले तथाकथित कारखास रोहित कुमार, एसआई अनिल सिंह सहित अन्य उपनिरीक्षकों को थाने से हटाने की मांग की. आरोप लगाया कि रोहित कुमार और एसआई अनिल सिंह लम्बे समय से यहां थाने पर तैनात हैं. जब भी किसी मामले में आपसी समझौता होता है ये लोग अवैध वसूली करते है.इस दौरान पुलिस और शासन की मंशा पर भी सवाल खड़े किए.

इस बाबत उपजिलाधिकारी चकिया ने बताया कि पत्रक मिला है. जांचकर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी. वहीं सुरक्षा की दृष्टि से थानाध्यक्ष मिर्जा रिजवान बेग,चकिया कोतवाल मिथिलेश तिवारी, महिला थाना प्रभारी अलीनगर श्यामा तिवारी, इंस्पेक्टर राजेश कुमार,जय सिंह सहित भारी संख्या में पुलिस व पीएसी के जवान मौजूद थे.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page