36.1 C
Varanasi

Chandauli news : बहुचर्चित रेलवे कर्मचारी के वेतन भत्ता घोटाले के मुख्य आरोपी युवराज व पत्नी के लिए खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई

Published:

The News Point (चन्दौली) :  मुगलसराय कोतवाली पुलिस ने बहुचर्चित रेलवे कर्मचारी के वेतन व भते के पैसे का गबन करने वाले गिरोह के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई की है. पुलिस ने गैंग के सरगना युवराज सिंह व उसकी पत्नी नीतू सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. 

विदित हो कि वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त कार्यालय में तैनात लिपिक युवराज सिंह आरपीएफ जवानों व विभागीय कर्मियों का वेतन, एरियर आदि के भुगतान का काम करता था. वह विभागीय कर्मचारियों व जवानों के एकाउंट नंबर में हेरफेर कर एरियर को अन्य खातों में ट्रांसफर कर लेता था. ऐसा वह कई साल से कर रहा था. इसकी भनक आरपीएफ कमांडेंट जेथिन बी राज को लगी. कमांडेंट ने इसकी शिकायत हाजीपुर विजिलेंस अधिकारियों से की.शिकायत मिलने पर बुधवार को विजिलेंस की टीम के तीन अधिकारी कमांडेंट कार्यालय में पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी. जांच के दौरान पता चला कि कमांडेंट कार्यालय का आरोपी कर्मचारी युवराज सिंह 30 विभागीय जवानों व कर्मचारियों के एरियर से छेड़छाड़ कर पौने दो करोड़ से ज्यादा की रकम का गोलमाल कर चुका है. जांच में पता चला कि वह रिटायरमेंट की कगार पर पहुंचे जवानों के खातों से ज्यादा छेड़छाड़ करता था ताकि मामले का पता न चल सके. 

पुलिस की माने तो इस गैंग के गैंग लीडर युवराज सिंह अपने गैंग के सदस्यो के साथ मिल कर आर्थिक भौतिक लाभ अर्जित कर उसे अपनी पत्मी व इस गिरोह की सदस्या नीतू सिंह के खाते में भेजता था. गैंग के सरगना युवराज सिंह उर्फ जितेन्द्र सिंह की गिरफ्तारी अभियोग से संबंधित गबन किये गये कुल तीन करोड 61 लाख रूपयों में से 11 हजार रूपये, एक अदद क्रेटा कार व गबन किये गये रूपये से खरीदे गये जमीन का कागजात की बरामदगी व पर्याप्त साक्ष्य के आधार धारा 411/120बी0 भादवि की बढोत्तरी की गयी. 

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page