36.1 C
Varanasi

Chandauli news : शहीद जवान धीरज राय को नहीं मिला राजकीय सम्मान : पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू ने खोला मोर्चा, देखे वीडियो…

Published:

The News Point (चंदौली) : कमालपुर क्षेत्र के इकबालपुर के शहीद जवान धीरज राय को राजकीय सम्मान नहीं मिलने से पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू समेत क्षेत्रीय लोग मंगलवार को आहत व आक्रोशित नजर आए। इस दौरान मौके पर पहुंचे सैयदराजा विधायक प्रतिनिधि अन्नू सिंह ने अपनी बातों से आक्रोश की आग में घी डालने का काम किया। विधायक प्रतिनिधि की बात पर सपा नेता मनोज सिंह डब्लू भड़क गए और शहीद के सम्मान की नियम-कायदे याद दिलाए। कहा कि जिस विधायक को अपने क्षेत्र के शहीद को अंतिम विदाई देने की फुर्सत न हो। उसके प्रतिनिधि को ऐसी बातें नहीं कहनी चाहिए। पहले से ही भाजपा सरकार व प्रशासन शहीदों का अपमान करती आ रही है। 

दरअसल इकबालपुर गांव निवासी धीरज राय गार्ड्स रेजीमेंट में तैनात हैं। बीते रविवार को वह नागपुर में अपने सैनिक साथियों के साथ अपने यूनिट जा रहे थे कि रास्ते में हुए सड़क हादसे में उनका निधन हो गया। मंगलवार को उनका शव एंबुलेंस के जरिए उनके गांव भेजा गया। सूचना के बाद सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू भी शहीद को अंतिम विदाई देने पहुंचे। वहां की स्थिति देख वह आक्रोशित हो उठे। मौके पर न तो एसडीएम, सीओ या थानाध्यक्ष थे ना ही तहसीलदार या अन्य कोई पुलिस या प्रशासनिक अफसर मौजूद था। 

इस पर मनोज सिंह डब्लू ने कहा कि सरकार ने अग्निवीर योजना लाकर पहले ही देश के सैनिकों का सम्मान खत्म करने का काम किया है। अब जो जवान शहीद हो रहे हैं उन्हें भी राजकीय सम्मान देने में कोताही कर रही है। यह शहीदों का अपमान है, जिसे आज पूरा देश देख रहा है। कहा कि आज शहीद धीरज राय के अंतिम संस्कार में जो कुछ हुआ वह दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण है। इसी बीच मौके पर पहुंचे विधायक सुशील सिंह के प्रतिनिधि अन्नू सिंह ने सपा नेता मनोज सिंह डब्लू कोे ऐसे मौके पर राजनीति न करने की बात कही, जिससे मनोज सिंह डब्लू व स्थानीय लोग भड़क गए। सपा नेता ने कहा कि वह यहां किसी तरह का अवरोध या रोडा डालने नहीं आए, लेकिन यह याद जरूरत दिलाने आए हैं कि यह जो कुछ भी हो रहा है वह गलत हो रहा है। ऐसी ओछी टिप्पणी करने की बजाय यदि शहीद के सम्मान के हित में कुछ करने की जरूरत है, लेकिन स्थानीय विधायक को इसके लिए फुर्सत नहीं है। इसके बाद मनोज सिंह डब्लू समेत सैकड़ों ग्रामीण शहीद के अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page