35.1 C
Varanasi

हिंदुस्तान पेट्रोलियम के विस्तारीकरण के विरोध में उतरे ग्रामीण, कहा – अधिग्रहण से भूमिहीन हो जाएंगे किसान

Published:

Chandauli : अलीनगर के सरेसर स्थित हिंदुस्तान पेट्रोलियम का विस्तारीकरण किया जाना है. जिसके लिए किसानों की जमीन ली जानी है. किसानों ने इसका विरोध किया है. उनका कहना है कि अधिग्रहण से किसान भूमिहीन हो जाएंगे. किसानों को डर है कि उनकी जमीन का उचित मुआवज़ा नहीं मिलेगा.

किसान कुछ शर्तों के तहत भूमि अधिग्रहण का विरोध कर रहे हैं. भूमि अधिग्रहण पर किसानों ने तहसील सभागार में लोक सुनवाई के दौरान आपत्ति जताई. एसडीएम ने समस्याओं की रिपोर्ट शासन को भेज दी है. शासन के निर्देशानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी. हिंदुस्तान पेट्रोलियम का डिपो सरेसर गांव स्थित अलीनगर-सकलडीहा मार्ग पर है.

इसमें पहले ही किसानों की जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है. इसके विस्तारीकरण के लिए उससे सटे करीब साढ़े चार हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जानी है. इसे लेकर बुधवार को एसडीएम विराग पांडेय की अध्यक्षता में हिंदुस्तान पेट्रोलियम के अधिकारियों की उपस्थिति में लोक सुनवाई हुई.

इस दौरान किसानों ने कहा कि गांव के किसानों की पूर्व में भी बहुत अधिक जमीन इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम व हिंदुस्तान पेट्रोलियम के लिए अधिग्रहित की जा चुकी है. जिससे बहुत से किसान भूमिहीन हो चुके हैं.

विस्तारीकरण के लिए ली जा रही जमीन आबादी क्षेत्र में है. इसलिए उक्त जमीन का मुआवजा आबादी क्षेत्र के हिसाब से मिलना चाहिए. साथ ही जिन किसानों को पूरी तरह से विस्थापित किया जा रहा है. उनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी मिलनी चाहिए.

किसानों की समस्याओं के बाबत एसडीएम ने उसकी रिपोर्ट शासन को प्रेषित कर दी है. शासन के निर्देश के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. एसडीएम ने बताया कि किसानों की समस्याओं को बिंदुवार सुना गया है. उसके समाधान के लिए कुछ बिंदुओं को शासन को भेज दिया गया है. शासन से निर्देश आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page