35.1 C
Varanasi

शिक्षकों का छलका दर्द, कहा – सरकार हम विलेन नहीं…

Published:

The News Point (चंदौली) : आनलाइन हाजिरी को लेकर शिक्षकों का विरोध लगातार जारी है. इसी क्रम में गुरुवार को सदर ब्लाक संसाधन केंद्र पर बेसिक शिक्षा विभाग से जारी आनलाइन हाजिरी को अव्यवहारिक के विरोध में ब्लाक अध्यक्ष मोहम्मद अकरम और महामंत्री गौरव मौर्या के नेतृत्व में शिक्षकों ने विरोध स्वरूप हस्ताक्षर अभियान चलाया.

शिक्षकों का छलका दर्द

इस दौरान उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जिला इकाई  के अध्यक्ष आनन्द सिंह ने कहा कि शिक्षक बेसिक शिक्षा परिषद के कर्मचारी हैं. शिक्षकों के साथ दोहरा बर्ताव किया जा रहा है. किसी भी विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को सभी सुविधाए मिलती है. इसमें 31 ईएल, 14 सीएल, हाफ सीएल एवं कैशलेश चिकित्सा आदि सुविधाएं मिलती है. यह आम शिक्षकों को नहीं मिलती है. सरकार इस तरह की सुविधा शिक्षकों को भी मुहैया कराए. उन्होंने कहा कि ऑनलाइन हाजिरी के नाम पर सरकार हम लोगों को विलेन साबित न करें.हम शिक्षक है समाज का दर्पण है. हम ऑनलाइन हाजिरी के लिए तैयार है लेकिन हमारी अन्य मांगों को माना जाय. 

ब्लाक अध्यक्ष मोहम्मद अकरम ने कहा कि शिक्षकों का शोषण एवं दोहन किया जा रहा है. जब तक यह शोषण और तानाशाही बंद नहीं होगी. शिक्षक किसी प्रकार का आनलाइन हाजिरी नहीं देगा. मांगे पूरी किए जाने तक शिक्षक आनलाइन हाजिरी का विरोध करते रहेंगे. इस मौके पर माया कुशवाहा, प्रिया सिंह, ईरा सिंह, अलका सिंह, दीपा कुमारी, सुनीता गौतम, बबिता गौतम, जय बहादुर सिंह, राजेश सिंह, राजेश बहादुर सिंह, कमलाकर सिंह, सत्येंद्र सिंह, सुरेश अकेला, मिथिलेश, राम गोविंद, चंदन मौर्या, सतीश मौर्या, गौरव मौर्या, अनिरुद्ध सिंह, भानु प्रताप सिंह, मनोज कुमार समेत अन्य शिक्षकों ने विरोध पत्र पर हस्ताक्षर किया.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page