35.1 C
Varanasi

शहीद स्मारक पर मना पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर सिंह की पुण्यतिथि, राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बताया समाजवादी विचारधारा के पोषक

Published:

The News Point (चन्दौली) : धानापुर कस्बा स्थित शहीद पार्क में सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर सिंह  की 17वीं पुण्यतिथि पर समाजवादी न्यास द्वारा श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया गया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आम आदमी पार्टी के राज्य सभा सांसद संजय सिंह एवं चंदौली के सांसद बीरेंद्र सिंह रहे. अतिथियों ने अगस्त क्रांति के शहीदों की श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर सिंह के  तैल चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया.

इस अवसर पर राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि चंद्रशेखर जी समाजवादी विचारधारा के बड़े नेता थे. जय प्रकाश नारायण की गिरफ्तारी होने पर कांग्रेसी सांसद होने के बावजूद उन्होंने संसद मार्ग थाना जाकर गिरफ्तारी दी. वे पूंजीवाद के प्रबल विरोधी थे और अपने जीवन में उन्होंने विचारधारा से हटकर कभी भी समझौता नहीं किया. चंद्रशेखर की विचारधारा को हम सभी लोग मिलकर आगे ले जाने का काम कर रहे हैं. 

कहा कि सांप्रदायिकता और पूंजीवाद के खिलाफ चंद्रशेखर की प्रतिबद्धताओं को याद करते हुए उन्होंने ने कहा कि समाजवादी व्यवस्था में सांप्रदायिकता और पूंजीवाद के लिए कोई स्थान नहीं हो सकता. वर्तमान दौर में पूंजीवादी ताकतों और साम्प्रदायिकता से लड़ने की सबसे अधिक जरूरत है. यह लड़ाई समाजवादी ही लड़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि छात्रों और नौजवानों को चंद्रशेखर जी के बारे में जानना चाहिए.

संजय सिंह ने कहा कि चंद्रशेखर सिंह गरीबों मजदूरों और नौजवानो की आवाज थे,और हमारे  देश के प्रधानमंत्री जहां जाते हैं. वहीं से उनका रिश्ता निकल जाता है. मणिपुर जल रहा था तो मैंने मणिपुर के मुद्दे पर चर्चा करने की बात कही तो मुझे बर्खास्त कर दिया गया. जिंदगी भर जेल में रखेंगे तब भी उनकी नफरत की राजनीति पर आवाज उठाता रहूंगा. भाजपा के लोगो का चार सौ पार का नारा था और आरक्षण और संविधान खत्म करने की उनकी योजना थी. लेकिन जनता उनकी योजना को भांप गई और उन्हें स्पष्ट बहुमत तक नही पहुंचने दिया.

चंदौली सांसद बीरेंद्र सिंह ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में लोकतंत्र, समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता के लिए समाजवादी संघर्षरत हैं. समाज में सांप्रदायिकता, सामाजिक विघटन और गैर बराबरी लगातार बढ़ रही है. भाजपा और आरएसएस जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं. ऐसे में समाजवादी पार्टी एकजुट होकर इन खतरों से मुकाबला करेगी और समाज में व्याप्त असमानता को दूर करेगी. 

सपा प्रवक्ता मनोज सिंह काका ने कहा कि चंद्रशेखर जी ने पदयात्रा के दौरान देश की तत्कालीन समस्याओं यथा गरीबी, भुखमरी, बेरोजगारी की जटिलता को महसूस किया. नई पीढ़ी को चंद्रशेखर जी की पुण्यतिथि पर समाजवादी विचार को आगे बढ़ाने का संकल्प लेना चाहिए. साथ ही चंद्रशेखर जी की जेल डायरी और यंग इंडिया के माध्यम से संघर्ष और विचार की समझ भी बढ़ानी चाहिए.

इस मौके पर श्रवण कुशवाहा, नसीम खान, सिराजुद्दीन भुट्टो, आतिफ खान जिद्दी, शाह आलम खान, मनोज काका, रामजन्म यादव, सत्यनारायन राजभर, हरदेव कुशवाहा, हौसला कुशवाहा, रामदुलार कन्नौजिया, राजीव यादव, प्रशांत यादव, सुरेंद्र पटेल पूर्व मंत्री, दीनानाथ श्रीवास्तव,प्रभाकर वर्धन सिंह, मृत्युंजय मौर्य, प्रदुमन सिंह मौर्य सहित अन्य लोग उपस्थित रहें. संचालन रामधनी यादव ने किया.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page