25.1 C
Varanasi

Chandauli : सीएम योगी आगमन से पूर्व कांग्रेस ने साधा निशाना, डबल इंजन सरकार को सभी मोर्चों पर बताया फेल 

Published:

चन्दौली :  मुख्यमंत्री के जनपद आगमन को लेकर लोगों की उम्मीद के साथ ही सियासत भी तेज हो गई है. जिले के विकास के लिए प्रस्तावित 734 करोड़ के विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास नियत है, लेकिन आगमन से पूर्व कांग्रेस ने निशाना साधते हुए ट्रामा सेंटर समेत अन्य विकास परियोजनाओं के बाबत सवाल उठाया है. ऐसे में शनिवार को जिले पारा बढ़ने की संभावना तेज हो गई.

कांग्रेस जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र तिवारी ने सवाल उठाया कि 2019 लोकसभा चुनाव के समय तात्कालिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के द्वारा जिले में उच्चतम ट्रामा सेंटर के लिए शिलान्यास किया गया था और 2022 विधानसभा चुनाव के समय स्थानीय सांसद एवं केंद्रीय मंत्री जी के द्वारा दूसरी बार ट्रामा सेंटर का शिलान्यास किया गया था. लेकिन 5 साल बाद भी ट्रामा सेंटर बाउंड्री वाल तक ही सीमित है. जिले के अंदर डबल इंजन की सरकार ने शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई एवं जिले के युवाओं को रोजगार हेतु उद्योग कारखाने लगवाने जैसे कोई भी महत्वपूर्ण कार्यों का निर्माण नहीं किया. जिला न्यायालय निर्माण एवं महत्वपूर्ण विकास कार्यों को लेकर को विगत कई वर्षों से अधिवक्तागण धरना प्रदर्शन,अनशन एवं चन्दौली से दिल्ली तक पदयात्रा करके सोए हुए जनप्रतिनिधियों एवं डबल इंजन की सरकार को कुंभकर्णी नींद से जगाने काम किया. लेकिन लगातार आश्वासन के बाद भी कार्य शुरू नहीं हो पाया.

कांग्रेस की सरकार में पंडित जी के द्वारा कराए गए विकास कार्यों की वर्तमान सरकार द्वारा मरम्मत तक नहीं किया जा सका. चुनावी सभा कार्यक्रम में चन्दौली पॉलिटेक्निक कॉलेज की जो बाउंड्री वॉल तोड़ी गई. जो आज 7 से 8 वर्षो तक उस बाउंड्री को भी नहीं जोड़ा गया. बाउंड्री से लेकर बिल्डिंग तक खंडण्हर बन चुका है. राजकीय डिग्री कॉलेज में नए विषयों की मान्यता तक नहीं मिल पाई.

मेडिकल कॉलेज बनाने के नाम पर पंडित जी के द्वारा बनवाए गए जिला अस्पताल को भी तोड़फोड़ कर तहस-नहस कर प्राइवेट हाथों में सौंपने की साज़िश किया जा रहा है, और उस जिला अस्पताल से पंडित जी का नाम हटाए जाने की साज़िश हो रही है.

चन्दौली को धान का कटोरा कहा जाता है. पंडित जी के द्वारा नहरों का जाल बिछाया गया है. लेकिन सरकार एवं जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण जिले में किसानों के खेतो के सिंचाई के समय सुखे की स्थिति उत्पन्न हो जाती है. नहरे टूटी फूटी जीर्ण सीर्ण अवस्था में घास फुस से पटी हुई है. साफ सफाई तक नहीं हो पा रही है. नहरों की सफाई के नाम पर घपलेबाजी और भ्रष्टाचार किया जा रहा है. कांग्रेस की सरकार में पंडित जी के द्वारा नारायणपुर में एशिया का सबसे बड़ा लिफ्ट कैनाल बनवाया गया गर्मियों के मौसम में और धान रोपाई के समय उस लिफ्ट कैनाल को चलाने के लिए पर्याप्त मात्रा में बिजली तक उपलब्ध नहीं हो पाती है. जिससे पूरी क्षमता से लिफ्ट कैनाल को चलाया नहीं जा सकता. रोस्टर वाइज नहरों को चलाया जाता है.

कांग्रेस सरकार में पंडित जी ने चकिया,नौगढ़ में दर्जनों बांध बंधियो का निर्माण कराया था. जो मरम्मत के अभाव में ध्वस्त पड़े हुए हैं, बांधों में किसानो की सिंचाई के लिए पानी तक उपलब्ध नहीं है. कांग्रेस सरकार में पंडित जी के द्वारा बनाए गए पॉलिटेक्निक कॉलेज, डिग्री कॉलेज, सिंचाई विभाग के बिल्डिंग में हीं जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, सहित जिले के उच्च अधिकारियों का आवास है. इन अधिकारियों के रहने के लिए आवास तक नहीं बन पाया है.

कोरोना काल में चन्दौली मझवार स्टेशन पर रुकने वाली आधा दर्जन ट्रेनों का ठहराव बंद कर दिया गया. पूरे विश्व में कोरोना खत्म होने के बाद स्थिति सामान्य हो गई. लेकिन ऐसा लगता है कि चन्दौली जनपद का करोना काल अभी तक खत्म नहीं हुआ है. जिसके कारण नई ट्रेनों की तो बात छोड़िए. पुरानी ट्रेनों का ठहराव भी नहीं हो सका. सरकार एवं जनप्रतिनिधि चन्दौली में बिजली, पानी,शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क सभी मोर्चे पर फेल है. इस डबल इंजन की सरकार के द्वारा एक वर्ष पूर्व प्रदेश एवं केंद्रीय मंत्रियों के द्वारा 9 साल, विकास बेमिसाल, का हवा हवाई दिवास्वपन दिखाकर प्रचार-प्रसार किया गया जो जमीनी हकीकत से कोसों दूर है.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page