12.4 C
Varanasi

Chandauli news : पूर्व विधायक मनोज के निशाने पर जिला पंचायत राज विभाग, डीपीआरओ को दिया अल्टीमेटम

Published:

Chandaul news : जिले का पंचायती राज विभाग इन दिनों सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू के निशाने पर है. मनोज सिंह डब्लू जनपद के अत्येष्टि स्थलों के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को डीपीआरओ कार्यालय पहुंचे. इस दौरान उन्होंने डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे को पत्र देकर अंत्येष्टि स्थल समेत कुल 10 बिंदुओं पर जानकारी तलब की. साथ ही चेतावनी दी कि यदि जनहित से जुड़ी जानकारी विभाग सोमवार को उपलब्ध कराने में नाकाम रहा तो कार्यालय में ग्रामीणों की अगुवाई में धरना-प्रदर्शन किया जाएगा.

इस दौरान मनोज सिंह डब्लू ने कहा कि अंत्येष्टि स्थल समेत अन्य बिंदुओं को लेकर डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे से कई बार मौखिक वार्ता हुई और उनसे उनके विभाग से जुड़े विभिन्न बिंदुओं पर 1जानकारी मांगी गई थी. बार-बार मौखिक आश्वासन के बाद भी विभाग की ओर से जनहित से जुड़े मामले पर लगातार उदासीनता, शिथिलता बरती गयी और स्वयं डीपीआरओ द्वारा बार-बार टालमटोल किया गया. 

बताया कि विभाग से जिले के समस्त ग्राम पंचायतों में अंत्येष्टि स्थलों का विवरण व उन पर हुए खर्च का ब्यौरा मांगा गया है. इसके अलावा जनपद में नियुक्त सफाई कर्मियों की जानकारी के साथ उन सफाई कर्मियों का ब्यौरा तलब किया गया है.जो ग्राम पंचायतों में काम न करके सरकारी कार्यालयों से सम्बद्ध हैं,और कौन सफाई कर्मी कितने दिनों से किस विभाग में सम्बद्ध है. 

उन्होंने कहा कि गत दिनों डीपीआरओ विभाग के बाबू द्वारा पैसा लेने का वीडियो वायरल हुआ था. इस प्रकरण की प्रगति और कार्यवाही की जानकारी मांगी गई है. कहा कि जनपद में ओडीएफ गांवों का विवरण समेत डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे के कार्यकाल में मिली शिकायतों पर हुई कार्यवाही की जानकारी मांगी गयी है. 

इसके अलावा सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति, मिनी सचिवालयों के निर्माण,शौचालयों की स्थिति, मिनी सचिवालयों के निर्माण, डीपीआरओ कार्यालय से सम्बद्ध कर्मचारियों का डेटा और डीपीआरओ ब्रह्वारी दुबे द्वारा अपने कार्यकाल में ग्राम पंचायतों के खाता सीज की कार्यवाही और उसकी वर्तमान स्थिति की जानकारी मांगी गयी है.

उन्होंने कहा कि लगातार ग्रामीण इलाकों से डीपीआरओ कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार की शिकायत मिल रही हैं. बावजूद इसके जिले के आला अफसर मौन साधे हुए हैं. ऐसे में उक्त भ्रष्टाचार को उजागर करते हुए उसमें लिप्त अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ बिगुल फूंकने का काम जल्द होगा. बताया कि सूचना नहीं मिलने पर डीपीआरओ कार्यालय कैम्पस में सोमवार से धरना-प्रदर्शन किया जाएगा.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page