36.4 C
Varanasi

Chandauli news : सकलडीहा पुलिस ने पकड़ी गांजे की खेप, पैडलर गिरफ्तार, उड़ीसा से चंडीगढ़ तक फैला है नशे का कारोबार…

Published:

Chandauli news : सकलडीहा पुलिस ने गांजा तस्कर गैंग का खुलासा किया है. पुलिस ने मैजिक गाड़ी के अंदर बॉक्स बनाकर तस्करी का खेल करने वाले पैडलर को गांजे की बड़ी खेप पकड़ा है. बरामद माल की कीमत करीब साढ़े 11 लाख रुपए है, फिलहाल पुलिस गैंग के सरगना तक पहुँचने में जुटी है.

दरअसल सकलडीहा इंस्पेक्टर राजीव कुमार सिंह मय हमराह चेकिंग कर रहे थे कि तभी क्राइम ब्रांच से सूचना मिली कि एक संदिग्ध वाहन मैजिक वाहन से अवैध मादक पदार्थ परिवहन कर रही है, तथा बिहार बार्डर नौबतपुर से क्राइम ब्रांच की टीम पीछा कर रही है. संदिग्ध वाहन सैयदराजा से नई बाजार जाने वाली रोड की तरफ मुड़ गई है. इस सूचना पर प्रभारी निरीक्षक सकलडीहा स्टैनफोर्ड स्कूल से कुछ आगे ग्राम नई बाजार पहुँचकर सड़क जाम कर चेकिंग करने लगे कुछ देर बाद एक सफेद रंग की मैजिक लोडर वाहन तेज गति से आती हुई दिखाई दी. पुलिस फोर्स को सामने देखकर अचानक वाहन रूक गया. इसी दौरान वाहन का पीछा करने वाली क्राइम ब्रांच की टीम भी आ गयी. मैजिक वाहन की घेराबंदी कर वाहन चालक को हिरासत मे लेकर थाने आई.अभियुक्त अजय पटेल के पास से तलाशी के दौरान कूटरचित दो आधार कार्ड समेत अन्य कागजात बरामद किया. इसके अलावा वाहन के अन्दर से दो कूटरचित नम्बर प्लेट व एक मोबाइल बरामद हुआ. 

जानकारी देते एसपी

फर्जी नंबर प्लेट से हो रहा खेल 

गिरफ्तार अभियुक्त ने पूछताछ मे बताया कि जो नम्बर प्लेट गाड़ी में है, वह वाहन का असली नम्बर प्लेट है तथा जो नम्बर प्लेट वाहन पर लगा है, वह फर्जी है. वाहन में डाले के नीचे खाली जगह बनवाया गया है. जिसमें नाजायज गांजा लोड है. यह गांजा उड़ीसा से रेड़ाखुर्द जनपद सम्भलपुर से लोड करके चण्डीगढ़ लेकर जा रहा था. यह गांजा उड़ीसा से निताई सिंह का है. जिससे वाट्सप कॉल के जरिये सेटिंग होता है.जिसे उमेश पटेल चण्डीगढ़ में उतारना था. जिसे फुटकर बिक्री कर मोती कमाई होती है. उड़ीसा में गांजा की कीमत 2.5 हजार है. जबकि चण्डीगढ़ में 12 हजार रुपया में बिक्री करते है. नम्बर प्लेट चेंज करने के बारे में बताया कि सही नम्बर प्लेट लगा कर उड़ीसा से चले थे. जिसे रांची से बदल दिये थे. टोल टैक्स पर फास्ट टैग से भुगतान करते थे तथा वाहन में तेल भराने पर पेट्रोल पम्प का क्यूआर कोड निताई सिंह को भेजने पर वही भुगतान कर देता था. 

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page