Home चंदौली Chandauli news : जिला अस्पताल के वार्डों में भर्ती मरीजों का हाल बेहाल, बोले-ठंड से ठिठुर रहे साहब 

Chandauli news : जिला अस्पताल के वार्डों में भर्ती मरीजों का हाल बेहाल, बोले-ठंड से ठिठुर रहे साहब 

0
Chandauli news : जिला अस्पताल के वार्डों में भर्ती मरीजों का हाल बेहाल, बोले-ठंड से ठिठुर रहे साहब 

Chandauli news : पंडित कमलापति त्रिपाठी संयुक्त जिला चिकित्सालय के सामान्य वार्डों में ठंड के मौसम में मरीजों की समस्या बढ़ते ही जा रही है. ठंड से बचाव के लिए कंबल ही सहारा है, जो नाकाफी साबित हो रहा है. ठंड से बचाव के लिए हर वार्ड में रूम हीटर होना चाहिए, लेकिन रूम हीटर वार्डों बल्कि कार्यालयों व चिकित्सकों के रूम की शोभा बढ़ा रहे है.जबकि हीटर ना होने से मरीज और तीमादार परेशान है. वहीं सीएमएस का अलग रोना है.

मुख्यालय स्थित पंडित कमलापति जिला चिकित्सालय के वार्ड में रोजाना 10 से 15 मरीज भर्ती होते हैं. इस समय 40 से अधिक मरीज भर्ती है. लेकिन उनको ठंड से बचाव के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई. कंबल के सहारे ही मरीज कड़ाके के ठंड में पड़े हुए हैं, जिनका घर दूर है, उन्हें ठंड के इस मौसम में परेशान होना पड़ रहा है, लेकिन करें भी तो क्या करें उनके लिए कोई सहारा नहीं है. यही नहीं तीमारदार और मरीज दोनों परेशान है. नर्सिंग वार्ड के इंचार्ज से बात की गई तो उन्होंने कहा कि सभी वार्डों में हीटर की व्यवस्था लेकिन इसकी तहकीकात की गई तो किसी भी वार्ड में हीटर की व्यवस्था देखने को नहीं मिली. संबंधित अधिकारियों कहना है कि हीटर अधिक होने के कारण एमसीबी गिर जा रहे हैं. जिसके कारण हीटर नहीं चल पा रहे हैं. एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ने में लगे हुए, जिसका खामियाजा मरीज और उनके तीमारदार भुगत रहे हैं.

ठंड से बचाव के लिए कोई नहीं है व्यवस्था

रूम हीटर के बाबत मरीज और तीमारदार ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली. कहा कि हम लोगों के पास ठंड से बचाव के लिए कोई व्यवस्था नहीं है. वार्ड में भर्ती संजीव कुमार ने बताया कि एक सप्ताह से भर्ती हूं, कड़ाके की ठंड पड़ रही है लेकिन बावजूद इसके हीटर की व्यवस्था नहीं है. जिससे ठंड में ठिठुरना पड़ रहा है.राम जी निषाद ने कहा कि वार्ड में हीटर ना होने की बात बताते हुए कहा कि बाहर की खिड़कियों से सर्द हवाएं  हाड़ कपा देती है. जिससे एक कंबल से गुजर बसर नहीं हो पता है रात भर बीमारी के बाद भी ठिठुरना पड़ता है. इसके स्वास्थ्य और भी खराब होता जा रहा है.

ओम प्रकाश ने कहा कि नर्सिंग वार्डों में और चिकित्सकों के वार्ड में ठंड से बचाव के उपाय विभाग की ओर से किए गए हैं,लेकिन वार्ड में मरीजों को बचाव के लिए कोई उपाय नहीं हुए हैं. जिससे हम मरीजों को परेशान होना पड़ता है. तीमारदार प्रदीप कुमार ने कहा कि मां को लेकर कई दिनों से भर्ती हूं लेकिन ठंड की बचाव के लिए कोई जिला अस्पताल की ओर से व्यवस्था नहीं की गई है. सिर्फ एक कंबल दे दिया जाता है. उससे ठंड से बचाव नहीं हो पता है.

इस बाबत पंडित कमलापति त्रिपाठी संयुक्त जिला चिकित्सालय के सभी वार्डों में हीटर की व्यवस्था की गई है. हिटरों की संख्या अधिक होने के कारण बिजली ट्रिपिंग हो जाती है. जिससे हीटर नहीं चल पाते हैं. हीटर बंद पड़े हैं तो उसकी जांच कराई जाएगी. इसमें जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here