36.4 C
Varanasi

जिसकी जितनी हिस्सेदारी, उसकी उतनी भागीदारी : बाबू सिंह कुशवाहा

Published:

Chandauli news : चुनाव की तारीखों का एलान भले ही न हुआ लेकिन सभी सियासी पार्टियां अपना चुनावी एजेंडा लेकर लोगों के बीच पहुँच रही है. इसी क्रम में जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबू सिंह कुशवाहा सम्पूर्ण भागीदारी यात्रा लेकर चकिया पहुँचे. जहां संपूर्ण भागीदारी यात्रा का जगह-जगह गाजे- बाजे के साथ स्वागत किया गया. इस दौरान जन अधिकार पार्टी ने सम्पूर्ण भागीदारी यात्रा के मंच से जाति जनगणना की आवाज उठाई. 

बाबू सिंह कुशवाहा का सम्बोधन…

इस दौरान यात्रा की अगुवाई कर रहे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा ने गांधी पार्क में गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और यात्रा को संबोधित करते हुए कहा कि जाति जनगणना की अलख जगाते हुए जिसकी जितनी हिस्सेदारी उसकी उतनी भागीदारी की आवाज को बुलंद किया.  कहा कि जिस समाज की जितनी आबादी हो आबादी के आधार पर हर क्षेत्र में उसे हिस्सेदारी मिलनी चाहिए. आजादी के 76 सालों में बनी सरकारों ने हमें हक अधिकार नहीं दिया. लेकिन जिसकी जितनी भागीदारी उसको उतनी हिस्सेदारी मिले. सरकारी, गैर सरकारी नौकरी, जल जंगल जमीन,ठेके पट्टे सभी मे समानता का अधिकार मिले. गरीब पिछड़े दलित आदिवादी को उनका हक मिले. जनता की संपूर्ण भागीदारी सुनिश्चित होने तक, आवाज उठाने का क्रम जारी रहेगा.

बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा कि देश के आजाद होने के बाद लोकतंत्र की स्थापना हुई. जिसकी मंशा थी कि सभी देशवासी मिलजुल कर एक सशक्त, समृद्धशाली राष्ट्र का निर्माण करेंगें और सभी देशवासियों को आबादी के अनुरूप हक-हिस्सेदारी प्राप्त होगा. लेकिन देश की मेहनतकश जनता खासकर पिछड़े, दलितों व अल्पसंख्यकों को हक-हिस्सेदारी से वंचित कर दिया गया. देश की सत्ता पर विराजमान रहे कांग्रेस और वर्तमान में सत्तासीन भाजपा पर करारा हमला करते हुए कहा कि जिन दलों को सरकार बनाने का मौका मिला उन लोगों ने जनता को मुद्दों से भटकाने का कार्य किया और अपनी ही रोटी सेकने में परेशान है प्रदेश की सरकार अपना साथ और अपना विकास के एजेंडे पर कार्य कर रही है. 

बाबा साहेब ने संविधान में सभी वर्गों के समानता का अधिकार देने की बात कही थी. लेकिन वो आज तक किसी भी सरकार में नहीं मिला. यह समानता सिर्फ जातिगत समानता नहीं बल्कि शिक्षा, स्वास्थ्य, संपत्ति, व्यापार, रोजगार हर साल क्षेत्र में मिले. उन्होंने लोगों से राजनीति में आने का किया भी आह्वान किया. कहा चुनाव में नेता आते है, और वोट लेकर चले जाते है. हमारे वोट से जीतते है, हमारे टैक्स के पैसे सरकार चलती है. हवाई जहाज में यात्रा करते हैं. उसके बाद हमारी समस्याओं को भूल जाते है. बदले में 5 किलो अनाज मिलता है. हमें 5 किलो अनाज नहीं बल्कि अच्छी शिक्षा और मुफ्त शिक्षा चाहिए. युवाओं को शिक्षा के बाद रोजगार चाहिए किसानों को सस्ती खाद बीज और उपज की सही कीमत चाहिए, छोटे दुकानदारों के जीएसटी माफी चाहिए.

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष चंद्रसेन पाल, राष्ट्रीय महासचिव लाखनराज पासी, राष्ट्रीय संगठन मंत्री विजय नारायण वर्मा, युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पंकज मनु विश्वकर्मा, प्रदेश महासचिव रामधनी निषाद, प्रदेश महासचिव रमेश यादव, प्रदेश महासचिव इंदू मेहता, वाराणसी मंडल प्रभारी सुमंत सिंह मौर्य, वशिष्ठ कुशवाहा, रामचंद्र त्यागी राजू मौर्य डॉ भागीरथी सिंह मौर्य, श्वेता मौर्य, जिलाध्यक्ष आदित्य मौर्य, जिला महासचिव रविरंजन शाक्य, जिला कोषाध्यक्ष मंगला मौर्य सहित तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे.

बयान – बाबू सिंह कुशवाहा, पूर्व मंत्री/राष्ट्रीय अध्यक्ष, जन अधिकार पार्टी

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page