35.1 C
Varanasi

खुलासा : पति ने गला घोंटकर की थी हत्या, अवैध संबंधों के चलते हुई हत्या…

Published:

The News Point :  शहाबगंज थाना क्षेत्र के रसिया गांव में 24 वर्षीय महिला रेनू पाल की 24 घंटे पहले हुई हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पति ने ही अवैध संबंधों के चलते पत्नी को मौत के घाट उतार दिया था। आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस ने वह रस्सी भी बरामद कर ली है, जिससे विवाहिता का गला घोंटा गया था।

अवैध संबंधों के चलते पति ने की पत्नी की हत्या सीओ चकिया आशुतोष ने बताया कि 14 अप्रैल की रात शहाबगंज क्षेत्र के रसिया गांव में हीरा लाल की 24 वर्षीय विवाहिता पुत्री रेनू की लाश मिली। रेनू शाम साढ़े सात बजे किसी से फोन पर बात करते हुए घर से निकली थी और देर रात कुछ दूर खेत में उसका शव मिला। शरीर और गले पर चोट के निशान थे। पुलिस ने हत्या की जांच शुरु कर दी। छानबीन पुलिस को मृतका के पति सकलडीहा क्षेत्र के उकनी वीरमराय निवासी ज्ञानेंद्र पाल तक ले गई। मंगलवार को तड़के पुलिस ने ज्ञानेंद्र को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिसिया पूछताछ में आरोपी ज्ञानेंद्र पाल ने बताया कि उसकी शादी चार मार्च 2024 को ही रेनू के साथ हुई थी। शादी के पहले से ही रेनू के किसी युवक के साथ अवैध संबंध थे। वह अपने प्रेमी के साथ ही रहना चाहती थी। ज्ञानेंद्र ने पत्नी को कई बार समझाया लेकिन वह अपनी बात पर अड़ी हुई थी। इसे लेकर पति-पत्नी के बीच विवाद भी होता था। विगत 12 अप्रैल को रेनू ससुराल से विदा होकर अपने गांव रसिया आई थी। 14 अप्रैल की रात ज्ञानेंद्र ने रेनू को फोन कर गांव के बाहर प्राथमिक विद्यालय के पास मिलने के लिए बुलाया। पहले तो रेनू तैयार नहीं हुई लेकिन ज्ञानेंद्र ने उसे किसी तरह अकेले मिलने को राजी कर लिया। शाम को रेनू पति ज्ञानेंद्र से मिलने प्राथमिक स्कूल के पास पहुंची। ज्ञानेंद्र ने अपनी बाइक पुलिया के किनारे खड़ी कर दी। मिलने आई रेनू को फिर से समझाना शुरु कर दिया और प्रेमी से दूर रहने की चेतावनी दी। लेकिन रेनू मानने को तैयार नहीं थी। इसके बाद ज्ञानेंद्र ने हाथ से ही रेनू का गला कसकर दबा दिया। जब वह बेहोश हो गई तब रस्सी से उसका गला तबतक दबाता रहा जबतक वह मर नहीं गई। इसके बाद रस्सी को झड़ियों में फेंककर फरार हो गया। इसतरह ज्ञानेंद्र की गिरफ्तारी के साथ पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा कर दिया।

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page