40.1 C
Varanasi

Election story : चन्दौली लोकसभा चुनाव में पदमा किन्नर की एंट्री, केंद्रीय मंत्री समेत दिग्गजों को देंगी टक्कर !

Published:

The News Point : लोकतंत्र के इस महापर्व में हर कोई सहभागी बनना चाहता है, और यही लोकतंत्र की खूबसूरती भी है. शायद यही वजह है कि अब किन्नर समाज भी लोकतंत्र के इस महापर्व में शामिल होकर मुख्यधारा से जुड़कर कुछ कर गुजरने की चाहत रखता है, नगर निकाय चुनाव में मिली सफलता के बाद चंदौली लोकसभा के चुनाव में भी किन्नर समाज की इंट्री हुई है. नामांकन के पहले दिन मंगलवार को पदमा किन्नर ने पर्चा लेकर खूब सुर्खियां बटोरी. पदमा किन्नर शिक्षा, स्वास्थ्य सहित विधवा आश्रम जैसे महत्वपूर्ण व बुनियादी मुद्दों के साथ चुनाव मैदान में होंगी.

बताते है कि मिनी महानगर दीनदयाल नगर अंतर्गत वार्ड नंबर-11, मवई खुर्द निवासी पदमा किन्नर समाज में बदलाव लाने की अपनी महत्वकांक्षाओं के साथ लंबे समय से समाजसेवा के क्षेत्र में सक्रिय हैं. बीते निकाय चुनाव में सोनू किन्नर की जीत ने उनके राजनीति में आकर जनसेवा करने के सपनों को पंख लगाया. फिलहाल वे इंडियन नेशनल पार्टी के झंड़ा व बैनर तले लोकसभा चंदौली का चुनाव लड़ेंगी. उनके चुनाव लड़ने के दृढ़ संकल्प के साथ ही चंदौली के मतदाताओं के लिए एक नया विकल्प मिला है, जो बुनियादी सवालों के साथ राजनीतिक में अपनी दखल को सुनिश्चित करना चाहती है.

उनके चुनावी मेनिफेस्टो पर गौर करें तो जाति, धर्म से इतर पदमा किन्नर वे तमाम सुविधाएं चंदौली के लोगों को देना चाहती है जो उनके जीवन स्तर में सहूलियत व सुविधाएं लाएं. उनके मेनिफेस्टो में महिलाओं, किसानों व नौजवानों को प्राथमिकता दी गई है. वृद्धाश्रम के साथ विधवा आश्रम की स्थापना एवं उसका संचालन करने की इच्छा रखती है. इसके अलावा वृद्धजनों को एक लाख रुपये सलाना आर्थिक मदद, गरीब युवाओं व कन्याओं को प्रति वर्ष 10 हजार का भत्ता देना उनके वादे में शामिल है. वहीं अस्पताल व रोजगार केंद्र के साथ ही विधानसभा स्तर पर खेल मैदान, विद्यालय, अस्पताल व तालाबों को सुदृढ़ कर जल संरक्षण करना भी शामिल है.

इसके अलावा विधानसभा स्तर पर बड़े मार्केट को स्थापित करके गरीब किसान एवं व्यापारियों को क्रय-विक्रय की सुविधा मुहैया कराना है. इतना ही नहीं कन्याओं की शादी के लिए दो से पांच लाख की आर्थिक मदद एवं वृद्धजनों के निधन पर परिजनों को अंतिम क्रिया के लिए 20 हजार रुपये का आर्थिक मदद देने के साथ ही किसान व कुटीर उद्योग की स्थापना के लिए लिए गए कर्ज माफी को इन्होंने अपने घोषणा-पत्र में शामिल किया जाएगा. फिलहाल वह चंदौली की राजनीति में किन्नर समाज का प्रतिनिधित्व चाहती हैं, ताकि वह सबकुछ किया जा सके जो अब तक के राजनेता सर्वसमाज के लिए करने में असफल रहे.

सम्बंधित पोस्ट

लेटेस्ट पोस्ट

spot_img

You cannot copy content of this page